• Sun. Mar 3rd, 2024

E News 24

News Views & Review

46 बरस की उम्र में नानी बनी रवीना टंडन, बेटी से महज 11 वर्ष ही हैं बड़ी, जानिए पूरा माजरा

ByDK Media

Sep 3, 2022

रवीना टंडन आज के वक्त मे किसी परिचय की मोहताज नहीं हैं. अदाकारा ने अपने अभिनय की बदौलत बॉलीवुड में मुकाम पाया हैं. आपको बता दें कि बॉलीवुड अभिनेत्री रवीना टंडन ने फिल्म इंडस्ट्री को एक से बढकर एक मूवीज दी है. इनकी कई मूवीज तो सुपरहिट साबित हुई. आज के वक्त में इनका खूब नाम हैं. इसलिए तो इनके कई दीवाने हैं.
लेकिन अब मूवीज से दूरी बनाने के बाद रवीना टंडन ने अपना नाम खो दिया. अपने करियर के दौरान, उन्होंने वे सब कुछ हासिल किया जो बॉलीवुड इंडस्ट्री में आने वाली एक नई अभिनेत्री का सपना होता है. 80 और 90 के दशक में कई निर्देशक पहले से ही उन्हें अपनी मूवीज में लेने की योजना बना रहे थे. उन दिनों उनकी फैन फॉलोइंग भी काफी बड़ी थी और बिना इंटरनेट के उन्होंने जबरदस्त लोकप्रियता हासिल कर ली थी. वहीं अगर अभिनेत्री की पर्सनल लाइफ की बात करें तो उन्होंने अपने करियर के चरम पर दो बेटियों को गोद लिया था और फिर ये बात भी चर्चा में आ गई. हालांकि, वक्त के साथ सब कुछ सामान्य हो गया और उन्होंने अपनी बेटियों की परवरिश भी काफी अच्छे से की.
आपको बता दें कि उन दिनों रवीना महज 21 वर्ष की थीं और उस उम्र में 2 लड़कियों को गोद लेना और उनकी देखभाल करना अपने आप में एक बड़ी बात है और आज की पोस्ट इन्हीं में से एक बेटी से जुड़ी है. आपको बता दें कि अभिनेत्री रवीना टंडन की गोद ली हुई बेटी पूजा अब मां बन गई है, जिसके बाद उन्होंने रवीना को नैनी भी बनाया है. आपको बता दें कि आज रवीना टंडन करीब 46 वर्ष की हैं और वो नानी बनकर बेहद उत्साहित भी हैं. एक साक्षात्कार में अभिनेत्री रवीना टंडन ने नानी बनने की बात कही थी, जिसमें उन्होंने कहा था कि आमतौर पर जब नैनी शब्द लोगों के कानों में पहुंचता है तो 70-80 साल की महिला की छवि बनती है.
अभिनेत्री रवीना टंडन ने आगे कहा कि जब उन्होंने अपनी बेटी पूजा को गोद लिया था तब वे करीब 11 वर्ष की थीं जबकि रवीना उस समय 21 वर्ष की थीं. ऐसे में मां और बेटी के बीच महज 10 वर्ष काबारे में उन्होंने कहा कि अब मैं और पूजा एक दोस्त की तरह हैं जहां पूजा भी एक बच्चे की मां है और वे एक बेटी की मां भी है जो खुद पूजा है, ऐसे में बेटी पूजा रवीना को अच्छे से समझ पाएगी और वहीं पूजा को भी उससे काफी कुछ सीखने को मिलेगा. एक अन्य साक्षात्कार में रवीना टंडन ने उस वर्ष का जिक्र किया था जब उन्होंने दो लड़कियों को गोद लिया था. रवीना ने कहा कि उस समय उन पर कई उंगलियां उठीं और कहा जा रहा था कि ये फैसला उनके करियर के लिए सही नहीं है.
लेकिन खुद पर विश्वास करते हुए रवीना ने वर्ष 1995 में दो लड़कियों को गोद लिया था, जिसके बाद रवीना ने साक्षात्कार में बताया कि ये भी उनकी जिंदगी का बहुत अच्छा फैसला था. रवीना टंडन ने अपने फैसले पर कहा कि जब भी वे अपनी दोनों बेटियों को देखतीं, तो उन्हें सकारात्मक ऊर्जा मिलती और यह उनकी नजर में हमेशा एक अच्छा फैसला था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *