• Thu. Feb 22nd, 2024

E News 24

News Views & Review

दीपावली की सफाई में आपको मिले अगर ये चीजें, तो समझ लेना मां लक्ष्मी कृपा के दे रही हैं संकेत

ByDK Media

Oct 17, 2022

दिवाली का पर्व जैसे जैसे नजदीक आता जा रहा है. वैसे वैसे लोग घरों और आफिस, दुकान की सफाई में करने में लग गए हैं. आपको बता दें कि दीपावली उत्सव की शुरूआत 22 अक्टूबर , धनतेरस से शुरू हो जाएगी. 5 दिवसीय त्योहार धनतेरस से शुरू होगा. आपको बता दें कि दीपावली के महापर्व की तैयारियां शुरु हो चुकी है. दिवाली के नजदीक आते ही लोग घरों में साफ-सफाई और सजावट करने के कामों में तेजी आती जाती है. साफ-सफाई के दौरान कई ऐसी पुरानी चीजें मिल जाती हैं.

इन चीजों को हम अक्सर रख कर भूल जाते हैं. धर्म और वास्तु शास्त्र में दीपावली की सफाई को लेकर कुछ खास बातें बताई गई हैं. इसके मुताबिक दीपावली की सफाई में कुछ खास चीजों का मिलना बहुत शुभ माना जाता है. इन चीजों का मिलना इस बात का संकेत देता है कि आप पर मां लक्ष्मी की कृपा से खूब धन लाभ होने वाला है. दीपावली की सफाई के दौरान यदि जेब, पर्स या अलमारी में पैसे रखे मिल जाएं तो यह बहुत अच्छा संकेत है. मां लक्ष्मी का आशीर्वाद मिलने का संकेत है. इस पैसे का उपयोग धार्मिक कार्य में करें इससे आपके घर में खूब बरकत होगी. मोरपंख और बांसुरी भगवान कृष्ण की प्रिय चीजें हैं.

कृष्ण जी भगवान विष्णु का ही अवतार हैं. यदि दीपावली की सफाई में मोर पंख या बांसुरी मिले तो आप ये समझ जाएं कि आप पर भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की अपार कृपा होने वाली है. दीपावली की सफाई में यदि शंख और कौड़ी मिल जाए तो ये मां लक्ष्मी की अपार कृपा होने का संकेत है. सफाई में मिली इन चीजों को धन स्थान पर रख लें. ऐसा करने से आपके घर में खूब सुख-समृद्धि आएगी. यदि दीपावली की साफ-सफाई में कहीं पर रखे हुए चावल मिल जाएं जिनके बारे में आपको याद भी न हो तो यह बहुत ही शुभ होता है.

चावल या अक्षत का मिलना जीवन में सौभाग्य का संकेत है. अक्षत का संबंध मां लक्ष्मी और शुक्र ग्रह से है. सफाई में चावल का मिलना जीवन में धन-विलासिता की बढ़ोतरी का संकेत है. मां लक्ष्मी को लाल रंग काफी प्रिय है. यदि दिवाली की सफाई में आपको लाल रंग का कोरा कपड़ा मिले तो सौभाग्य समझकर इसे अपने पास रख लेना चाहिए. ये आपके जीवन में अच्छे दिन आने का इशारा होता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *